कंप्यूटर शिक्षक वेतन की अदायगी के बिना कर रहे कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य

0
72

आनी (टी सी शर्मा)। सरकार ने पिछली कैबिनेट में आउटसोर्स कर्मचारियों के लिए कोरोना ड्यूटी के दौरान 200 प्रति सेशन देने की बात कही ,आउटसोर्स कर्मचारियों के प्रदेश सलाहकार धनपत भारद्वाज ने कहा है कि यह फण्ड 200 से बढ़कर 500 किया जाए। कोरोना वैक्सीन के कार्य के दौरान यदि किसी आउटसोर्सिंग कर्मचारी के साथ कोई हादसा घटित होता है तो उसके परिवार को सहारे के रूप में कोई नीति अमल में लाई जाएं।

सरकार आउटसोर्स कर्मचारियों को सम्बंधित विभाग में समायोजन करें, वहीं सरकारी स्कूलों में तैनात 1341 कंप्यूटर शिक्षकों को  कोरोना काल मे पिछले एक  महीने से वेतन नहीं मिला है। शिक्षकों को प्रतिमाह दो करोड़ रुपये का वेतन देने के लिए शिक्षा विभाग  और नाइलेट संस्था शिक्षको को वेतन देने में हर माह देरी कर रही है। नाइलेट वेतन की अदायगी  करने में हर माह आना कानी कर रहा है। हर बार शिक्षकों को शिक्षा सचिव के हस्तक्षेप के बाद फंड जारी किया जाता है।

सूबे के सरकारी स्कूलों में आउटसोर्सिंग पर कंप्यूटर शिक्षक नियुक्त हैं। नाइलेट कंपनी के माध्यम से शिक्षकों को नियुक्त किया गया है। सरकार शिक्षकों का वेतन देने के लिए नाइलेट कंपनी को अदायगी करती है।  शिक्षा विभाग नाइलेट कंपनी को सरकार से पैसा आने के बाद कंपनी शिक्षकों को वेतन देती है। शिक्षा विभाग की लापरवाही के चलते अभी तक कंप्यूटर शिक्षकों को दिए जाने वाले वेतन का अदायगी नही हो पाई है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here