कृषक भ्रमण कार्यक्रम में शामिल हुए 36 किसान, प्राकृतिक खेती देखने-समझने को किया बल्ह क्षेत्र का भ्रमण

0
78

 

Himachal VOICE (मंडी/अश्विनी भारद्वाज): कृषि विभाग मंडी ने विकास खंड सदर के किसानों के लिए सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती योजना के अंतर्गत एक दिवसीय कृषक भ्रमण कार्यक्रम का आयोजन किया। आत्मा परियोजना मंडी द्वारा आयोजित इस भ्रमण कार्यक्रम में क्षेत्र के 36 किसानों ने बल्ह क्षेत्र का दौरा किया। विभाग की ओर से खण्ड तकनीकी प्रबंधक रवि कुमार और सहायक खंड तकनीकी प्रबंधक सुभम सुद उनके साथ रहे।

खण्ड तकनीकी प्रबंधक रवि कुमार ने बताया कि इस भ्रमण कार्यक्रम का उद््देश्य किसानों को प्राकृतिक खेती को लेकर जागरूक व प्रेरित करना तथा यह देखने-समझने का अवसर देना था कि किसान किस तरह सफलतापूर्वक जहर मुक्त खेती कर रहे हैं ।

इस दौरान किसानों ने उन 3 कृषकों के खेतों का भ्रमण किया जो प्राकृतिक विधि से अच्छी कृषि कर रहे हैं । उन्होंने देसी गाय फार्म का भी भ्रमण किया। उन्होंने सकरोहा गांव में किसान वीरेंद्र ठाकुर, मलोरी गांव में तीजेन्द्र ठाकुर के खेतों और चुनाहन में मंजीत शर्मा व नैना के देसी गाय फार्म का भ्रमण किया।

किसानों ने सुभाष पालेकर प्राकृतिक खेती विधि समझी और जाना कि इस खेती में देसी गाय का क्या महत्व है। गाय के गोबर व गोमूत्र के प्रयोग से फसलों के लिए जीवामृत, घन जीवामृत, द्रेक अस्त्र, अग्नि अस्त्र आदि किस तरह तैयार किए जाते हैं। सभी किसानों ने प्राकृतिक खेती में रूचि दिखाई और अपनी जानकारी बढ़ाने और इसे करने की विधि सीखने के इस अवसर का भरपूर लाभ लिया।

बता दें, प्रदेश सरकार का इस ओर विशेष जोर है कि किसान प्राकृतिक खेती को अपनाने को आगे आएं। इसके लिए सरकार की ओर से सब्सिडी भी दी जा रही है। मंडी जिला में अब तक करीब साढ़े 4 हजार किसानों ने इस खेती को अपना लिया है । जिले में 233 हैक्टेयर से अधिक जमीन को प्राकृतिक खेती के अधीन लाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here