मंडी जिला की पहली महिला एसपी.. IPS शालिनी अग्निहोत्री

0
77

Himachal VOICE ब्यूरो, मंडी। जिला मंडी में अब पुलिस की कमान एक महिला अधिकारी के हाथों में आ गई है।जिला में पहली बार एक महिला अधिकारी बतौर एसपी अपनी सेवाएं देने जा रही है। यह मंडी जिला के लिए गर्व की बात है।

अभी तक जिला में कुल 52 अधिकारी बतौर एसपी अपनी सेवाएं दे चुके हैं और ये सभी अधिकारी पुरुष ही थे। लेकिन अब 2012 बैच की आईपीएस अधिकारी शालिनी अग्निहोत्री मंडी जिला के 53वें एसपी के रूप में अपना कार्यभार संभालेगी। इसी के साथ वह मंडी जिला की पहली महिला एसपी भी होंगी। पिछले कल ही राज्य सरकार ने प्रदेश के 6 जिलों के एसपी बदले हैं।

एसपी मंडी गुरदेव शर्मा को अब एसपी सीआईडी नियुक्त किया गया है और उनके स्थान पर शालिनी अग्निहोत्री को मंडी में तैनाती दी गई है। यह मंडी जिला के लिए एक नया अनुभव होगा और गर्व की बात भी होगी कि यहां की पुलिस कप्तान है अब एक महिला अधिकारी होंगी। खासतौर पर जिला की महिलाओं को महिला पुलिस अधिकारी से अधिक उम्मीदें रहेंगी।

इससे पहले शालिनी अग्निहोत्री एसपी कुल्लू के रूप में अपनी बेहतरीन सेवाएं दे चुकी है। उसके बाद सरकार ने इन्हें आरआरबीएन बनगढ़ के कमांडेंट का कार्यभार सौंपा था और उसके बाद इन्हें शिमला में विजिलेंस का एसपी नियुक्त किया गया था।

गौरतलब है कि HRTC बस कंडक्टर की बेटी शालिनी अग्निहोत्री ने यूपीएससी की परीक्षा में 285वाँ रैंक हासिल किया था। उन्होंने सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंड महिला अफसर ट्रेनी की वंदना मलिक ट्रॉफी भी हासिल की है। बाहरी विषयों में सर्वश्रेष्ठ ट्रेनी को दी जाने वाली वाली वाली एलबी सेवा ट्रॉफी पर भी उनका कब्जा रहा। जांच के लिए दी जाने वाली अलका सिन्हा ट्रॉफी भी उनके नाम रही है। यही नहीं, पढ़ाई के अलावा दूसरी गतिविधियों के लिए दी जाने वाली जीएस आर्या ट्रॉफी भी शालिनी ने ही कब्जा जमाया है।

आईपीएस शालिनी अग्निहोत्री को उनका होम कैडर हिमाचल ही दिया गया है। प्रदेश की युवा आईपीएस पहली शालिनी की कुल्लू जिला में बतौर एसपी पहली पारी बेहद कामयाब रही है। नशे के कारोबार के खिलाफ एसपी खौफ बनी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here