राजकीय महाविद्यालय आनी में समकालीन समाज में लोक संस्कृति के महत्व” विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया

0
75

आनी (टी सी शर्मा)। राजकीय महाविद्यालय आनी, प्रतिभा स्पंदन सोसाइटी शिमला एवं कल्प फाउंडेशन मंडी के सयुंक्त तत्वावधान में “समकालीन समाज में लोक संस्कृति का महत्व” विषय पर एक दिवसीय ऑनलाइन राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

इस संगोष्ठी में अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय बिलासपुर, छत्तीसगढ़ के कुलपति प्रो. अरुण दिवाकर नाथ वाजपेयी ने बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित रहे। अपने वक्तव्य में प्रो. वाजपेयी ने वर्तमान समय में लोक संस्कृति के संरक्षण पर महत्वपूर्ण सुझाव दिए और भारत की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के विविध पहलुओं को रेखांकित किया।

कॉलेज प्राचार्य डॉ. राम लाल नेगी ने मुख्य अतिथि का धन्यवाद ज्ञापन किया तथा प्रो. निर्मल सिंह शिवांश ने संगोष्ठी आयोजन के महत्व और प्रासंगिकता पर प्रकाश डाला। इस  संगोष्ठी में देश भर के विभिन्न विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों के  लगभग साठ शिक्षाविदों, शोधकर्ताओं ने अपने शोध पत्र प्रस्तुत किये। इस संगोष्ठी के कोऑर्डिनेटर प्रो. अशोक ने सभी प्रतिभागियों का आभार व्यक्त करते हुए निकट भविष्य में इस प्रकार की  संगोष्ठियों के आयोजन की प्रतिबद्धता को जाहिर किया।

इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से प्रो. मृत्युंजय शर्मा,  प्रो. केशव शर्मा, प्रो. हिम चटर्जी, प्रो. आर. एस. शांडिल, प्रो. सुनीता वापट, प्रो. कामिनी शांडिल, प्रो. डी. आर. पुरोहित, प्रो. राजेन्द्र भट्ट, प्रो. रजनी देवी, डॉ. वीरेंद्र, डॉ. पंकज गुप्ता, डॉ. निर्मल सिंह, प्रो. कपूर नेगी, प्रो. भुवनेश्वर, महेश्वर ठाकुर एवं कला,संस्कृति  एवं भाषा अकादमी के सचिव डॉ. कर्म सिंह भी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here