सरकार का ग्रामीण विकास और रोजगार सृजन पर जोर : वीरेन्द्र कंवर

0
80

Himachal VOICE (मंडी/अश्वनी भारद्वाज): ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज, कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य पालन मंत्री वीरेन्द्र कंवर ने कहा कि प्रदेश सरकार ग्रामीण विकास और रोजगार सृजन पर विशेष जोर दे रही है। जन भागीदारी से सामुदायिक परिसंपत्तियों के निर्माण और रखरखाव को बढ़ावा दिया जा रहा है। स्थानीय समुदाय को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाने तथा रोजगार के अतिरिक्त अवसरों के सृजन के लिए ठोस कदम उठाए गए हैं।

वीरेन्द्र कंवर नाचन विधानसभा क्षेत्र के अपने दो दिवसीय दौरे के पहले दिन आज मोवी सेरी और शाला पंचायतों में विभिन्न विकास योजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास करने के उपरांत बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि पंचायती राज संस्थानों को सुदृढ़ करने तथा इन संस्थानों के माध्यम से ग्रामीणों को विकास में भागीदार बनाने के विशेष प्रयास किए गए है। मनरेगा तथा आजीविका मिशन के तहत अनेक गतिविधियां आरम्भ की गई हैं।

मनरेगा के शानदार काम से शाला ने पेश की मिसाल

ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री ने शाला पंचायत में मनरेगा में किए शानदार कार्यों के लिए पंचायत प्रतिनिधियों, पंचायतवासियों और स्थानीय प्रशासन की तारीफ की। उन्होंने कहा कि शाला पंचायत में मजबूत सामुदायिक भागीदारी एक अहम फैक्टर है, जिसने पंचायत को सबसे अलग बनाया।

प्रदेश में अब तक 59 हजार किसानों ने अपनाई प्राकृतिक खेती

वीरेन्द्र कंवर ने कहा कि प्रदेश में प्राकृतिक खेती को बड़े पैमाने पर बढ़ावा दिया जा रहा है। अब तक 59 हजार किसानों ने प्राकृतिक खेती को अपनाया है, जिससे 3,037 हेक्टेयर क्षेत्र में इस पद्धति से खेती-बाड़ी होने लगी है।

वरदान सिद्ध हो रही मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना

उन्होंने कहा कि फसलों को जंगली जानवरों से बचाने में मुख्यमंत्री खेत संरक्षण योजना भी वरदान सिद्ध हुई है। अब तक लगभग 2600 से अधिक किसानों ने इसका लाभ उठाया है, जिस पर 80.36 करोड़ रुपये व्यय किए जा चुके हैं। किसानों और बागवानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य से आरम्भ अनेक योजनाओं के परिणामस्वरूप प्रदेश गैर-मौसमी सब्जियां उगाने व फल उत्पादन में अग्रणी राज्य बन गया है।

 उद्घाटन व शिलान्यास

इस अवसर पर वीरेन्द्र कवंर ने कृषि विभाग द्वारा तैयार साढ़े 20 लाख की लागत से निर्मित सौर उठाऊ सिंचाई योजना मरोही नाला से मोवी सेरी, डंगैल में मनरेगा के तहत 5 लाख की लागत से निर्मित सामुदायिक भवन व किचन शैड, 35 लाख की लागत से सरस्वती विद्या निकेतन हाई स्कूल मोवी सेरी के नव निर्मित भवन और देव भण्डार बाला कामेश्वर में 16 लाख की लागत से बने बहुउद्देशीय भवन का विधिवत उद्घाटन किया।

उन्होंने शाला ग्राम पंचायत में 25-25 लाख की लागत से विश्राम गृह और भारत निर्माण सेवा केन्द्र, 16 लाख की लागत से पंचायत भवन, 5 लाख की लागत से निर्मित ग्राम सभा हाल, 14 लाख की लागत से स्तरोन्नत पुराने पंचातय भवन का उद्घाटन किया।

    उन्होंने मनरेगा के तहत मोवी सेरी में 13 लाख की लागत से बनने वाली सौर उठाऊ सिंचाई योजना का शिलान्यास भी किया।  

 घोषणाएं

ग्रामीण विकास मंत्री ने किसान भवन गोहर के लिए एक करोड़ रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि मोवी सेरी पंचायत में पेयजल योजना के लिए मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर ने 4 करोड़ रुपये स्वीकृत किए हैं।

मंत्री ने नाचन विधान सभा क्षेत्र में सीए स्टोर के निर्माण के लिए 50 लाख और जल संरक्षण स्ट्रक्चर के लिए 60 लाख रुपये देने की घोषणा भी की। उन्होंने मोवी सेरी में विभिन्न विकास कार्यों के लिए 15 लाख रुपये देने की घोषणा भी की।

इस मौके पर मंत्री ने मनरेगा में बेहतर कार्य के लिए पंचायत प्रतिनिधयों को सम्मानित किया।

8 करोड़ से चकाचक होगी चैलचौक-मोवी सेरी सड़क : विनोद कुमार

इस अवसर पर विधायक विनोद कुमार कहा कि चैलचौक-मोवी सेरी सड़क के विस्तार और सुधार पर 8 करोड़ रुपये खर्चे जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सकरैणी में एक करोड़ की लागत से पंचवटी पार्क का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने नाचन विधान सभा क्षेत्र में चल रहे विभिन्न विकास कार्यों बारे विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नाचन क्षेत्र में किसानों-बागवानों की सुविधा के सिंचाई व्यवस्था की मजबूती पर बल दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर के मार्गदर्शन में नाचन क्षेत्र में विकास की नई परियोजनाएं लागू की गई हैं, ताकि लोगों का जीवन खुशहाल बने।

ग्राम पंचायत मोवी सेरी के प्रधान मुकेश चंदेल ने पंचातय राज मंत्री को शॉल, टोपी व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया और पंचायत में हो रहे विभिन्न विकास कार्यों बारे विस्तार से जानकारी दी।

ग्राम पंचायत शाला के प्रधान राज कुमार ने मंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि शाला पंचायत में इस वित्त वर्ष में मनरेगा के तहत 5 करोड़ की राशि व्यय कर विभिन्न विकास कार्य किए गए। इसके तहत शाला पंचायत से कमरूनाग तक 16 किलोमीटर सड़क का निर्माण किया गया जिसमें 3 किलोमीटर मार्ग को पक्का कर दिया गया है।

इस मौके पर हिमाचल प्रदेश किसान यूनियन के प्रदेश महासचिव सीता राम वर्मा और जिला प्रधान भूप सिंह, जिला सचिव दूनी चन्द ने कृषि मंत्री को सम्मानित किया।

इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश मिल्क फैडरेशन अध्यक्ष निहाल चन्द शर्मा, जिला महामंत्री हुक्कम ठाकुर, मण्डलाध्यक्ष सोहन सिंह ठाकुर, महामंत्री नरेन्द्र भण्डारी, महामंत्री सदर दिवान ठाकुर, बीडीसी चेयरमैन इन्द्र सिंह ठाकुर, उपाध्यक्ष बीडीसी जगेश्वर चौहान, एसडीएम गोहर अनिल भारद्वाज, बीडीओ निशान्त शर्मा सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here