Homeहिमाचलकांगड़ाहिमाचल में बेरोजेगारी का आलम: चपरासी, चौकीदार बनने की दौड़ में BA...

हिमाचल में बेरोजेगारी का आलम: चपरासी, चौकीदार बनने की दौड़ में BA और MA पास

कांगड़ा: प्रदेश में युवा एक अदद सरकारी नौकरी की तलाश में हैं। बेरोजगारी का आलम यह है कि चतुर्थ श्रेणी के पदों के लिए कांगड़ा में बेरोजगार युवाओं की भीड़ उमड़ पड़ी है। हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड में चपरासी, चौकीदार और ड्राइवर के आठ पदों के लिए बोर्ड प्रबंधन के पास डेलीवेज के तौर पर भरे जाने वाले इन पदों के लिए साढ़े 1,238 से अधिक आवेदन पहुंचे हैं।

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने इन पदों को भरने के लिए चौकीदार के लिए आठवीं पास योग्यता रखी है, जबकि चपरासी और चालक के पदों के लिए 10वीं पास अभ्यर्थियों से आवेदन मांगे थे। लेकिन बीए से लेकर एमए पास अभ्यर्थियों ने भी इस नौकरी के लिए आवेदन किया है। इन पदों के लिए महिला अभ्यर्थियों ने भी आवेदन किए हैं।

सरकारी नौकरी पाने के लिए उच्च शिक्षित बेरोजगार युवा भी लाइन में खड़े हैं। बेरोजगारी का आलम है कि चपरासी के तीन पदों के लिए 740 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया है। इनमें से 434 ने अभी तक फीस जमा करवा दी है, जबकि अन्य अभ्यर्थियों के पास अभी भी लेट फीस के साथ आवेदन करने के लिए 15 दिन का समय है।

वहीं चालक के एक पद के लिए 160 आवेदन पहुंचे हैं, जिनमें से 108 की फीस जमा हो चुकी है। इसके अलावा स्कूल शिक्षा बोर्ड ने चौकीदार के चार पदों के लिए भी आवेदन मांगे थे, जिनके लिए बोर्ड के पास 338 अभ्यर्थियों के आवेदन पहुंचे हैं। इनमें से 202 अभ्यर्थियों ने फीस जमा करवा दी है।

स्कूल शिक्षा बोर्ड धर्मशाला के अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार सोनी ने बताया कि हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने चपरासी, चौकीदार और चालक के पदों को डेलीवेज के आधार पर भरने के लिए सात जुलाई से लेकर छह अगस्त तक आवेदन मांगे थे। इस दौरान बोर्ड के पास कुल 1,238 आवेदन आए हैं। इनमें से 744 अभ्यर्थियों के दस्तावेज पूर्ण और फीस सहित प्राप्त हुए हैं, जबकि 494 आवेदनों में फीस भरी जानी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments