हिमाचल: पौने दो साल बाद स्कूल पहुंचे तीसरी से सातवीं क्लास के विद्यार्थी

0
7

शिमला: हिमाचल प्रदेश के स्कूलों में बुधवार से तीसरी से सातवीं क्लास के विद्यार्थियों की भी नियमित कक्षाएं शुरू हो चुकी हैं। सरकार के निर्देशानुसार बुधवार से तीसरी से बारहवीं क्लास तक के विद्यार्थियों की स्कूलों में नियमित कक्षाएं लगेंगी। करीब पौने दो साल बाद स्कूलों में एक बार फिर रौनक लौटी है।

बता दें कि विद्यार्थियों की अधिक संख्या वाले स्कूलों में एक दिन छोड़कर या सुबह-शाम के सत्र में कक्षाएं लगेंगी। माइक्रो प्लान के आधार पर कक्षाओं में विद्यार्थी बैठाए जाएंगे। स्कूल गेट पर थर्मल स्क्रीनिंग से तापमान जांचा जाएगा। अगर किसी विद्यार्थी या शिक्षक-गैर शिक्षक में बुखार के लक्षण मिले तो गेट से ही उन्हें वापस भेजा जाएगा। स्कूलों में सभी के लिए फेस मास्क पहनना अनिवार्य रहेगा।

उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने खांसी, जुकाम, बुखार के लक्षण वाले विद्यार्थियों से अभी स्कूलों में नहीं आने की अपील की है। उन्होंने कहा कि जैसे ही बच्चों का स्वास्थ्य ठीक हो जाए, वे स्कूल आ सकते हैं। उच्च शिक्षा निदेशक ने बताया कि अभिभावकों से जिला अधिकारियों के माध्यम से हमारी बात होती थी। सभी स्कूलों में बच्चों को बुलाने के हक में रहे हैं। इसके चलते ही सरकार ने यह फैसला लिया है।

बता दें कि 21 महीनों बाद प्रदेश में बुधवार से तीसरी से सातवीं कक्षा के विद्यार्थी स्कूल आएंगे। 15 नवंबर से पहली और दूसरी कक्षा के विद्यार्थी भी स्कूल बुलाए जाएंगे।

स्कूलों में लंच ब्रेक का अलग-अलग समय रहेगा। स्कूल आने और जाने के समय में कक्षावार पांच से दस मिनट का अंतर होगा। प्रार्थना सभा और खेलकूद सहित एकत्र होने वाली सभी गतिविधियां बंद रहेंगी।

सरकारी स्कूलों में नियमित कक्षाएं शुरू होने के बावजूद हर घर पाठशाला कार्यक्रम के तहत ऑनलाइन शिक्षण सामग्री भेजने की प्रक्रिया भी आगामी आदेशों तक जारी रहेगी। 

वहीं, स्कूल में संक्रमित विद्यार्थी मिलने पर 48 घंटे तक स्कूल बंद रखा जाएगा। इस दौरान सैनिटाइजेशन अभियान चलेगा। उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत कुमार शर्मा ने कहा कि बीते एक सप्ताह में कोरोना संक्रमण के मामले कम हुए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here