Homeहिमाचलशिमलाशिमला: पुलिस को चकमा देकर भागा था आरोपी, पुलिस ने जंगल से...

शिमला: पुलिस को चकमा देकर भागा था आरोपी, पुलिस ने जंगल से दबोचा

 

शिमला: कोर्ट ले जाते वक़्त हिमाचल पुलिस की गिरफ्त से फरार हुए क़ैदी को पकड़ने में पुलिस ने सफलता हासिल की है। बताया जा रहा है कि कैदी को पुलिस ने 2 दिन बाद जंगल से गिरफ्तार किया है। पिछले 2 दिनों से पुलिस अपनी पूरी टीम के साथ क़ैदी को ढूंढने में लगी थी और शुक्रवार को उसे जंगल से पकड़ा गया है।

बता दें कि हत्या के एक आरोपी को कंडा जेल शिमला से चक्कर कोर्ट पेश करने के लिए लाया जा रहा था। ऐसे में तवी मोड़ पर आरोपी पुलिस को चकमा देकर फ़रार हो गया। आरोपी ने सड़क किनारे ढांक से छलांग लगाई थी और भागने में कामयाब रहा था। इसका सीसीटीवी फुटेज भी जारी हुआ था जिसमें शिमला पुलिस की खूब फजीहत हुई थी।

बता दें कि राजधानी के तवी मोड़ से फरारी के दौरान घटनाक्रम सीसी फुटेज में भी कैद हुआ था। फरारी के बाद से ही पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी को लेकर एड़ी-चोटी का जोर लगाया हुआ था। शिमला पुलिस के अलावा कंडा जेल में तैनात छठी आईआरबी बटालियन के जवानों की भी कैदी की तलाश में टीमें गठित की गई थी। छठी आईआरबी बटालियन की टीमों का नेतृत्व सब इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार को दिया गया था।

सूत्रों के मुताबिक बटालियन की एक टीम को गोपनीय सूचना मिली थी कि फरार अंडर ट्रायल कैदी की लोकेशन शोघी के दूरस्थ इलाके के मोबाइल टावरों के नजदीक हो सकती है। ये भी पता चला है कि कैदी को इस बात की भनक लग गई थी कि पुलिस को उसकी लोकेशन का अंदाजा हो गया है, लिहाजा वो जंगल में छिप गया था। सघन्य तलाश के दौरान पुलिस टीम के साथ खोजी कुत्ते व ड्रोन कैमरे आदि भी थे।

35 वर्षीय विचाराधीन कैदी ढाडी राम पर जुलाई 2020 में अपनी सास के साथ अप्राकृतिक दुराचार का आरोप भी है। इसके बाद पीड़िता की मौत हो गई थी। 72 घंटे से भी कम वक्त में विचाराधीन कैदी को उसकी असल जगह पहुंचा दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक टीम को ये सफलता 11 से 11ः30 बजे के बीच मिली है। पुलिस के शीर्ष अधिकारी ने फरार विचाराधीन कैदी की जंगल से गिरफ्तारी की पुष्टि की हैै।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments