पावर बैंक (Power Bank) रिचार्ज ऐप की आड़ में करोड़ों की धोखाधड़ी

0
79

प्रदेश में रिचार्ज ऐप की आड़ में करोड़ों की ऑनलाइन धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। आरोप है कि गूगल प्ले स्टोर में एक ऐसी ऐप थी, जिसमें विभिन्न तरह के रिचार्ज के लिए लोगों से छह सौ से डेढ़ लाख रुपये तक इन्वेस्ट करवाया जाता था। ऑनलाइन जितने भी रिचार्ज होते थे, घंटों के हिसाब से निवेशकों को पैसे आते थे। कोरोना काल में शुरू में अच्छी खासी इनकम आती देखकर सूबे के काफी लोगों ने इस पर दाव खेल दिया। करोड़ों निवेश होने के बाद अब 12 मई 2021 को यह ऐप गूगल प्ले स्टोर से गायब हो चुकी है। सारा ऑनलाइन डाटा भी डिलीट कर दिया है। इसमें लोगों का करोड़ों रुपये डूब चुके हैं।

पधर के शिकायतकर्ता मनोज कुमार का कहना है कि अभी हाल ही में गूगल प्ले में एक ऐप आई थी। इसमें 600 से लेकर डेढ़ लाख रुपये तक का रिचार्ज था। लोग इसमें पैसा इन्वेस्ट करते तो रिचार्ज होने पर एक घंटे के हिसाब से उन्हें लाभ आता था। गूगल प्ले में इसके यूजर दस लाख से भी ज्यादा दिख रहे थे। इसमें हिमाचल के भी दस हजार के बीच लोग थे। उन्होंने भी 9600 रुपये इन्वेस्ट किए थे। उनके दोस्त अंशुमन ने 50,000 का निवेश किया था। इनका दावा है कि यह घोटाला करोड़ों का है। यह कंपनी खुद को बंगलूरू का बताती थी।

डीएसपी पधर लोकेंद्र नेगी ने कहा कि शिकायतकर्ता से संबंधित दस्तावेज मांगे गए हैं। यदि जांच में आरोप सही पाए गए तो नियमानुसार कार्रवाई होगी। डीएसपी ने कहा कि यदि और लोग भी धोखाधड़ी का शिकार हुए हैं तो वे सामने आएं ताकि ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह तक पहुंचा जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here