बिन ब्याही मां ने नवजात को छोड़ा, CM आवास की सुरक्षा में तैनात कर्मी ने बचाया

0
69

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला स्थित छोटा शिमला थाना क्षेत्र से एक बाद खबर सामने आ रही है। यहां पर एक कलयुगी मां ने अपने नवजात शिशु जन्म देने के तुरंत बाद मरने के लिए लावारिस हालत में छोड़ दिया और मौके से फरार हो गई। भला हो सीएम जयराम ठाकुर के आवास की सुरक्षा में तैनात एक कर्मी का जिसने नवजात के रोने की आवाज़ सुनी और पुलिस को इस बाबत जानकारी दे दी।

के बाद मौके पर पहुंचकर पुलिस ने शिशु को वहां से उठाया और अस्पताल ले गए। इसके बाद पुलिस ने इस मामले में आगामी कार्रवाई को अमल में लाते हुए नवजात शिशु को मरने के लिए लावारिस छोड़ कर भागने वाली मां को 5 घंटे के अंदर ही अंदर ढूंढ निकाला। बताया जा रहा है कि लोकलाज के डर से बिन ब्याही एक मां ने अपने नवजात शिशु को जन्म के कुछ ही देर बाद लावारिस हालत में छोड़ दिया था। 

ताजा अपडेट के अनुसार नवजात बच्चे को अभी डॉक्टरों की देखरेख में रखा गया है। डॉक्टरों द्वारा नवजात पूरी तरह से स्वस्थ बताया जा रहा है। वहीं, पुलिस ने आरोपी महिला के खिलाफ आईपीसी की धारा 317 में केस दर्ज कर आगामी छानबीन शुरू कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार इस बिन ब्याही मां ने नवजात को मातृ-शिशु अस्पताल के पास स्थित एनएच के पास घास पर लावारिश हालत में छोड़ दिया था।

गौरतलब है कि यह इलाका सीएम के सरकारी आवास ओकओवर से सटा है। ऐसे में सीएम आवास की सिक्योरिटी में तैनात एक कर्मी जब वहां से गुज़रा, तो उसे नवजात के रोने की आवाज़ सुनाई दी। इसके बाद नवजात शिशु को लावारिस हालत में पड़ा देखकर उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी। जानकारी मिलने के बाद ASI रंजना शर्मा के नेतृत्व में मौके पर पहुंची छोटा शिमला पुलिस टीम ने शिशु को अपने कब्जे में लेकर आईजीएमसी अस्पताल भेज दिया। 

जहां डॉक्टर्स ने नवजात को पूरी तरह से स्वस्थ बताया। वहीं, दोक्ट्रोस द्वारा पुलिस को यह भी बताया गया कि नवजात शिशु का जन्म कुछ घंटे पहले ही हुआ है। इसके बाद रंजना शर्मा की टीम ने शिशु को लावारिस छोड़ने वाली मां की तलाश शुरू कर दी और घटनास्थल पर बिखरे खून के धब्बों के जारी पुलिस आरोपित के घर तक पहुंच गई। वहीं, अपने सामने पुलिस को खड़ा देख आरोपी महिला के होश उड़ गए। 

इसके बाद पुलिस ने युवती को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस द्वारा इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया गया कि युवती की अभी शादी नहीं हुई है। वह शिमला में प्राइवेट नौकरी करती है। एक युवक के संपर्क में आने के बाद वह गर्भवती हुई तथा प्रसव के बाद लोकलाज के डर से नवजात शिशु को लावारिस छोड़ दिया था। वहीं, अब पुलिस ने आरोपी महिला के खिलाफ मामला दर्ज कर आगामी जांच शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here