‘निक्की जिनी गोजरी’ से मिली अलग पहचान, अब लोगों के दिल में बसते हैं ईशांत भारद्वाज

0
52

कांगड़ा।। हिमाचली लोक गायक और कांगड़ा के शाहपुर के निक्की जिनी गोजरी फेम ईशांत भारद्वाज की आवाज का हर कोई दीवाना है। ईशांत के हर गाने को सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म पर लाखों में व्‍यूज मिल रहे हैं।

हिमाचल में शायद ऐसा कोई कार्यक्रम नहीं होता, जिसमें ईशांत भारद्वाज के गाना नहीं बजता हो। इसकी खास वजह यह है कि वह हकीकत को बयां करते गाने दर्शकों तक पहुंचा रहे हैं। जिला कांगड़ा के शाहपुर निवासी ईशांत भारद्वाज प्रदेश के अन्य कलाकारों को भी प्रोत्साहित कर रहे हैं।

पिछले हफ्ते ईशांत भारद्वाज का नया गाना ‘चिट्टी चरेली’ रिलीज किया गया है। इस गाने को यूट्यूब पर अब तक तीन लाख के करीब व्यूज मिल चुके हैं। ईशात भारद्वाज ने गीत चिट्टी चरेली को अपनी आवाज देने के साथ ही खुद ही लिखा व कंपोज किया है। इसमें संगीत सीपी स्टूडियो शाहपुर का है, जबकि डीओपी के रूप में अनमोल शर्मा एएस पहाड़ी फिल्मस ने काम किया है। जबकि गीत में मुख्य भूमिका में चंबा सिहुंता के शाम, मीनाक्षी व प्रिंयका शामिल है।

चिट्टी चरेली गाने के माध्यम से यह दिखाने की कोशिश की गई है कि आज के समय में एक्स्ट्रा मेरिटेयल अफेयर कैसे बड़ी समस्या बनते जा रहे हैं, और घर-परिवार को खराब कर रहे हैं। गीत में व्यक्ति की पत्नी को बहुत दुख होता है, वो पहले तो रोती है फिर उसको सबक सिखाने के लिए एक छोटा सा नाटक करती है।

गाने के माध्यम से ईशांत भारद्वाज ने संदेश दिया है कि पति पत्नी का रिश्ता कितना पवित्र होता है। सुखी रहने के लिए लिए पति-पत्नी में एक दूसरे के प्रति ईमानदारी बहुत जरूरी है। इस तरह इशांत भारद्वाज अपने गाने के माध्यम से सामाजिक सरोकार को सहेजने में जुटे हैं।

ईशांत भारद्वाज के लोकगीतों को प्रदेश भर सहित देश भर में खूब प्यार मिल रहा है। जिसके चलते लगातार पूरे राज्य भर में विभिन्न कार्यक्रमों में अपनी प्रस्तुतियों से समां बांध रहे हैं। इसके साथ ही यूटयूब चैनल इंशात भारद्वाज में लोकगीत खूब धमाल मचा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here