किताब घोटाला : विस का होगा घेराव, 4 अगस्त को शिमला में देश भर के प्रकाशक संघों का प्रदर्शन

0
64

विवादों से घिरे हिमाचल के समग्र शिक्षा विभाग में चहेती फर्मों को गुपचुप तरीके से किताबों की खरीद के ऑर्डर देने की तैयारी चल रही है। इसके लिए समग्र शिक्षा विभाग से फाइल सचिवालय को मंजूरी के लिए भेज दी गई है। 

इसकी भनक लगते ही देश भर के प्रकाशक संघ ने समग्र शिक्षा विभाग के खिलाफ एक बार फिर से मोर्चा खोल दिया है। उत्तर- मध्य भारत हिंदी प्रकाशक संघ ने शुक्रवार को ऐलान किया कि वो चार अगस्त को विधानसभा का घेराव करेंगे।

प्रकाशकों ने यह भी कहा कि उनका आंदोलन गांधीवादी होगा, लेकिन जिस तरह से समग्र शिक्षा में किताब प्रक्रिया में अनियमितताएं बरती जा रही है, उसे बर्दाश नहीं जाएगा।

आरोप यह भी है कि समग्र शिक्षा विभाग ने गुपचुप तरिके से किताब के रेट तय कर फाइल मंत्री के साइन के लिए भी भेज दी है। हैरानी है कि देश के प्रकाशकों ने किताब खरीद पर हिमाचल का नाम बिहार के साथ जोड़ दिया। उत्तर मध्य भारत हिंदी प्रकाशक संघ के महामंत्री ने कहा कि बिहार के समग्र शिक्षा विभाग मेें ऐसे नियम अपनाए जाते हैं।

उत्तर-मध्य भारत हिंदी प्रकाशक संघ की आपात बैठक दिल्ली के मुख्य कार्यालय में बुलाई गई थी, जिसमें प्रकाशकों ने निर्णय लिया है कि वे सिर्फ क्रांति की किताबें ही नहीं प्रकाशित करेंगे, बल्कि अपने रोजी-रोटी व्यवसाय के साथ किए जा रहे इस प्रकार के छल-प्रपंच अन्याय का विरोध करने के लिए शिमला कूच करेंगे।

शुक्रवार को एक बयान में देश के सबसे बड़े प्रकाशन समूह एक वाणी प्रकाशन के मालिक अरुण माहेश्वरी ने कहा कि समग्र शिक्षा राज्य परियोजना कार्यालय द्वारा किताबों के चयन व खरीदी प्रक्रिया में जो गोलमोल किया जा रहा है, ऐसा वर्तमान में देश के किसी भी राज्य में नहीं देखा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here