हिमाचल: तेज आंधी-तूफान में पेड़ गिरने से ढह गई पशुशाला, पानी की पाइप लाइन भी टूटी

0
29

ऊना।। ऊना जिला के बंगाणा उपमंडल में रविवार देर रात को तेज आंधी-तूफान ने खूब कहर बरपाया। क्षेत्र के तहत हरीनगर रौनखर पेयजल योजना के तहत आने वाली पाइप लाइन पर चीड़ का पेड़ गिरने से पाइप लाइन टूट गई। पाइप लाइन टूटने से सोमवार को पेयजलापूर्ति बाधित रही।

वहीं, इस तेज आंधी तूफान में कई टीन पोश व स्लेट पोश मकानों की छतों को भी भारी नुकसान हुआ। कई स्थानों पर पेड़ गिरने की घटनाएं भी सामने आईं, मगर गनीमत यह रही कि कोई अप्रिय घटना नहीं घटी।

आंधी-तूफान में पेड़ गिरने से ढह गई पशुशाला

रविवार रात को तेज आंधी-तूफान में बंगाणा उपमण्डल के घरवासड़ा में एक गरीब किसान राम किशन पुत्र देबिया राम घरवासड़ा निवासी की पशुशाला पर चीड़ का पेड़ गिरने से पशुशाला ढह गई। हालांकि कोई जान माल का नुकसान नहीं हुआ। पशुशाला के अंदर बंधे पशुओं को कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाल लिया गया। लेकिन फिर भी तकरीबन दो लाख के नुकसान का अनुमान लगाया जा रहा है। वहीं, जिला पार्षद उपाध्यक्ष कृष्ण पाल शर्मा ने पीड़ित परिवार को सरकार से उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया है।

आंधी-तूफान में पाइप लाइन टूटी

वहीं, इस आंधी तूफान में हरीनगर रौनखर पेयजल योजना के तहत आने वाली पाइप लाइन पर एक बड़ा चीड़ का पेड़ गिरने से पाइप लाइन को भारी नुक़सान हुआ है। सोमवार को रौनखर, बही लालशाह सहित अन्य गांवों में पेयजल आपूर्ति बाधित रही।

सोमवार सुबह से ही विभाग के कर्मचारियों में सुरजीत सिंह, राकेश कुमार, विजय कुमार, शशी, राम मूर्ति, डीसी, प्रशोतम सहित अन्य स्टाफ सदस्यों पीने के पानी की पाइप लाइन को जोड़ने में लगे रहे। वहीं, सहायक अभियंता हरभजन सिंह का कहना है कि तूफान की वजह से भारी पेड़ गिरने से पाइप लाइन को नुकसान हुआ है। जल्द ही पाइप लाइन को जोड कर पेयजलापूर्ति सुचारू कर दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here