Homeहिमाचलहमीरपुरहिमाचल: युवाओं में कम हो रहा इंजीनियरिंग का क्रेज, कॉलेजों को ढूंढे...

हिमाचल: युवाओं में कम हो रहा इंजीनियरिंग का क्रेज, कॉलेजों को ढूंढे नहीं मिल रहे विद्यार्थी

हमीरपुर: हिमाचल प्रदेश के युवाओं में अब इंजीनियरिंग का क्रेज़ कम हो रहा है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हिमाचल प्रदेश टेक्नीकल यूनिवर्सिटी के अधीन चल रहे 34 से अधिक कॉलेजों में डेढ़ हजार से अधिक सीटें इस बार खाली रह गई हैं। कॉलेजों को ढूंढने से भी विद्यार्थी नहीं मिल रहे हैं।

बता दें कि यूनिवर्सिटी ने खाली सीटों पर चिंता जताते हुए  30 नवंबर को स्पॉट काउंसिलिंग राउंड भी करवाया था। बावजूद इसके भी सीटें नहीं भर पाई हैं। यहां यह भी बताते चलें कि पिछले पांच सालों में आधा दर्जन कॉलेज बंद भी हो चुके हैं।

सीटें खाली रहने से टेक्नीकल यूनिवर्सिटी से संबद्धता प्राप्त एक दर्जन से अधिक प्राइवेट कॉलेज संचालकों की चिंता भी बढ़ गई है। प्राइवेट कॉलेज प्रबंधकों ने बैंकों से करोड़ों का ऋण लेकर बड़े-बड़े भवन खड़े किए हैं। इसके अलावा शिक्षक और गैर शिक्षक स्टाफ को भी प्रतिमाह वेतन के रूप में राशि खर्च करनी पड़ रही है।

आर्थिक तंगी से परेशान करीब आधा दर्जन महाविद्यालय पिछले पांच सालों में बंद भी हो चुके हैं। अब एक बार फिर से सीटों के खाली रहने से निजी महाविद्यालय संचालकों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है।

इन कॉलेजों में खाली हैं सीटें

जवाहर लाल नेहरू राजकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय सुंदरनगर में टेक्सटाइल इंजीनियरिंग की 120 में से 78 सीटें खाली हैं। इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, मेकेनिकल इंजीनियरिंग की सीटें भी खाली हैं। राजीव गांधी इंजीनियरिंग महाविद्यालय नगरोटा बगवां में आर्किटेक्चर में 23 सीटें खाली हैं। अटल बिहारी वाजपेयी राजकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय प्रगतिनगर शिमला में इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग 67 सीटें खाली हैं। महात्मा गांधी राजकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय ज्यूरी शिमला में भी 100 से अधिक सीटें खाली हैं।

इसके अलावा ग्रीन हिल्स इंजीनियरिंग कॉलेज सोलन, एचआईईटी शाहपुर कांगड़ा, एचआईईटी सिरमौर, केसी एजूकेशनल एंड सोशल वेलफेयर सोसायटी ग्रुप ऑफ रिसर्च एंड प्रोफेशनल इंस्टीट्यूट ऊना, एलआर इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी सोलन, टीआर अभिलाषी मंडी, वैष्णो कॉलेज नूरपुर, सिरडा मंडी, गौतम कॉलेज हमीरपुर और हिमाचल प्रदेश तकनीकी विवि के दडूही परिसर में बीएससी होटल मैनेजमेंट की 25, जबकि नगरोटा बगवां परिसर में 49 सीटें खाली हैं।

इस बारे टेक्नीकल यूनिवर्सिटी हमीरपुर के डीन और परीक्षा नियंत्रक राजेंद्र गुलेरिया का कहना है कि टेक्नीकल यूनिवर्सिटी ने इंजीनियरिंग, फार्मेसी, एमबीए और एमसीए समेत अन्य विभागों में सीटों को भरने के लिए काउंसलिंग के कई राउंड करवाए हैं। फार्मेसी कॉलेजों में सभी सीटें फुल हैं। 30 नवंबर को आखिरी स्पॉट राउंड हो चुका है। अब सभी कॉलेजों में कक्षाएं शुरू हो चुकी हैं।
 
वहीं, टेक्नीकल यूनिवर्सिटी हमीरपुर के रजिस्ट्रार अनुपम ठाकुर का कहना है कि कॉलेजों में सीटें खाली रही हैं। इस मामले को सरकार के समक्ष उठाया जाएगा, ताकि खाली सीटों को किसी अन्य तरीके से भरा जा सके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments