HomeNews | समाचारहिमाचलसेना भर्ती में फर्जी स्पोर्ट्स सर्टिफिकेट, ऐसे हुआ खुलासा

सेना भर्ती में फर्जी स्पोर्ट्स सर्टिफिकेट, ऐसे हुआ खुलासा

शिमला: सेना भर्ती में स्पोट्र्स कोटे में भर्ती होने वाले अभ्यर्थियों द्वारा विभिन्न दस्तावेजों के साथ फर्जी खेल प्रमाण पत्र लगाने का खुलासा हुआ है। जानकारी मिली है कि अभ्यर्थियों ने ऐसी स्पोट्र्स एसोसिएशनों द्वारा जारी नेशनल लेबल के सर्टिफिकेट भर्ती के दौरान अपने डाक्यूमेंट के साथ अटैच किए हैं, जिनका कोई रिकार्ड ही नहीं है।

मामले का खुलासा उस वक्त हुआ जब सेना की ओर से एक लैटर जिला स्पोट्र्स अथॉरिटी के पास वेरिफिकेशन के लिए भेजा गया, जिसमें अंदेशा जताया गया कि यह सर्टिफिकेट उन्हें संदेहपूर्ण लग रहे हैं। सूत्रों की मानें तो फर्जी खेल प्रमाण पत्रों का यह खेल पिछले कुछ वर्षों से चला हुआ है।

पहले भी ऐसे सर्टिफिकेटों को वेरिफाई करने से खेल अथॉरिटी मना कर चुकी है। पिछले माह सितंबर में जैक रायफल की भर्ती रेजिमेंटल सेंटर जबलपुर में हुई थी। स्पोट्र्स कोटे में भर्ती होने वाले अभ्यर्थियों की जब डाक्यूमेंट वेरिफिकेशन सेना की ओर से की जाने लगी तो बहुत सारे खेल सर्टिफिकेट संदेहास्पद लगे, जिसके बाद सेना की ओर से प्रदेश के विभिन्न जिलों से संबंधित अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट वेरिफाई करने के लिए जिला स्पोट्र्स अथॉरिटी के पास भेजे गए।

हमीरपुर में जिन दर्जन भर अभ्यर्थियों के सर्टिफिकेट स्पोट्र्स अथॉरिटी के पास पहुंचे तो संबंधित अधिकारी ने इन्हें वेरिफाई करने से इनकार कर दिया क्योंकि उनके अनुसार न तो यह प्रदेश सरकार से मान्यता प्राप्त एसोसिएशन हैं न ही इसमें संबंधित खेल के राज्य सचिव के साइन हैं न ही डिप्टी डायरेक्टर के साइन।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments