ब्रिगेडियर को उसकी पंचायत में न हरा सका, तो राजनीति से ले लूंगा संन्यास: कौल सिंह ठाकुर

0
9

मंडी: हिमाचल प्रदेश में हो रहे उपचुनाव के बीच सूबे का सियासी पारा काफी बढ़ा हुआ है। इस सब के बीच नेताओं द्वारा बयानबाजी करने का सिलसिला भी तेज हो चुका है। इसी कड़ी में पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कौल सिंह ठाकुर ने मंडी उपचुनाव को लेकर एक बड़ा बयान दे दिया है, जिसकी चर्चा हर तरफ है।

यह भी पढ़ें: महंगाई की आग में माचिस भी झुलसी, अब दो रुपए में मिलेगी माचिस की डिब्बी

रविवार को मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान कौल ने कहा है कि अगर उन्होंने भाजपा प्रत्याशी ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को उन्ही की गृह पंचायत में नहीं हराया तो वे राजनीति से संन्यास ले लेंगे। बकौल कौल सिंह ब्रिगेडियर खुशाल ठाकुर को सिर्फ कारगिल हीरो के नाम से प्रचारित किया जा रहा है जबकि धरातल पर उनकी कोई पकड़ नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: बेटियों के साथ मिलकर नशे का कारोबार करता था पिता, गिरफ्तार

कांग्रेस नेता ने कहा है कि जो उनकी गृह पंचायत है और जो इलाका स्नोर है वहां से कांग्रेस पार्टी को बढ़त दिलाई जाएगी और ब्रिगेडियर को उनके ही घर पर मात दी जाएगी। इसके साथ ही साथ कौल सिंह ठाकुर ने पूरे जिला से भी कांग्रेस को बढ़त का दावा किया है।

यह भी पढ़ें: हिमाचल: चलती नैनो कार में भड़की आग, बाल-बाल बची चालक की जान

वहीं, कांग्रेस उम्मीदवार प्रतिभा सिंह पर घर में मातम वाले मसले को लेकर बीजेपी की तरफ से हो रहे लगातार हमले पर कौल सिंह ठाकुर ने कहा कि 1998 में देहरा गोपीपुर से भाजपा विधायक वीरेंद्र धीमान की मौत होने के बाद उनकी धर्मपत्नी निर्मला धीमान को भाजपा ने तुरंत चुनावी मैदान में उतार दिया था।

यह भी पढ़ें: आज पतियों की दुविधा होगी ‘डबल’, IND-PAK मैच का देखें स्कोर या छत पर चांद ढूंढ़ने पर लगाएं ज़ोर

उन्होंने सतपाल सत्ती से पूछा कि क्या उस वक्त एक वर्ष के शोक वाला नियम लागू नहीं होता था। द्रंग विधायक जवाहर ठाकुर जिस एक वर्ष के शोक की बात कह रहे हैं ऐसा कोई नियम इस क्षेत्र में नहीं है। कौल सिंह ठाकुर ने भाजपा नेताओं से अपनी इस अशोभनीय टिप्पणी के लिए माफी मांगने की मांग उठाई है।

यह भी पढ़ें: सबसे पहले किसने किसके के लिए रखा था करवाचौथ का व्रत, बेहद दिलचस्प है ये कहानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here