Homeहिमाचलशिमलाहिमाचल: राशन डिपुओं में अब मनियारी का सामान भी मिलेगा

हिमाचल: राशन डिपुओं में अब मनियारी का सामान भी मिलेगा

शिमला: प्रदेश सरकार ने बढ़ती महंगाई के इस दौर में राशन डिपुओं के माध्यम से जनता को राहत देने की योजना बनाई है। राज्य खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा प्रदेश के राशन डिपुओं को दैनिक जरूरतों की चीजों में बदला जाएगा।

राज्य खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा कंपनियों से सीधे सामान सप्लाई करने के लिए अनुबंध किया जाएगा। प्रदेश के राशन डिपुओं को दैनिक जरूरतों की चीजों में तबदील करने बाद डिपो में खाद्य वस्तुओं के अलावा दूध, बिस्कुट, क्रीम, टूथपेस्ट, सर्फ, पाउडर, तेल, शैम्पू, साबुन, चायपत्ती, मनियारी सहित दैनिक जरूरत की अन्य वस्तुएं भी मिलेंगी।

राज्य खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा ब्रांडेड कंपनियों का उच्च गुणवत्ता का सामान प्रदेश के राशन डिपुओं में उपलब्ध करवाएगा।

मिलेगा एमआरपी पर 10 प्रतिशत डिस्काउंट

बता दें कि प्रदेशभर में करीब 5100 राशन डिपो हैं। जांच उपकरणों से लैस लैबोरेटरी में सामना की जांच होने के बाद दैनिक जरूरत की वस्तुएं राशन डिपुओं में सप्लाई की जाएगी। राज्य खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा राशन डिपुओं में लोगों को वस्तुओं की एमआरपी पर दस प्रतिशत डिस्काउंट दिया जाएगा।

बढ़ेगी राशन डिपुओं की इनकम

राशन डिपुओं के दैनिक जरूरतों की चीजों में तबदील होने से जहां राशन डिपो की इनकम बढ़ेगी, वहीं प्रदेश की जनता को भी सस्ते दामों पर वस्तुएं मिलेंगी। राज्य खाद्य नागरिक आपूर्ति निगम ने राशन डिपुओं को दैनिक जरूरतों की चीजों में तबदील करने की तैयारी शुरू कर दी है। जल्द ही प्रदेश के राशन डिपुओं में लोगों के दस प्रतिशत डिस्काउंट के साथ दैनिक जरूरत की वस्तुएं मिलेंगी।

उच्च गुणवत्ता की वस्तुएं सस्ते दामों में मिलेंगी

इस बारे खाद्य आपूर्ति मंत्री राजेंद्र गर्ग ने कहा कि प्रदेश के राशन डिपुओं में लोगों को सस्तें दामों पर उच्च गुणवत्ता की वस्तुएं दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के राशन डिपुओं में अभी हाल ही में दस प्रतिशत डिस्काउंट के साथ चाय पत्ती लोगों को दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि जल्द ही प्रदेश के राशन डिपुओं में लोगों दस प्रतिशत डिस्काउंट के साथ लोगों को दैनिक जरूरत की वस्तुएं दी जाएंगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments