हिमाचल: बच्चों को जबरदस्ती नहीं बुला सकते प्राइवेट स्कूल, सरकारी स्कूल नहीं होंगे बंद

0
8

शिमला: हिमाचल प्रदेश में न तो स्कूलों को बंद किया जाएगा और न ही ऑनलाइन या ऑफलाइन कक्षाएं बंद होंगी। शनिवार को जारी निर्देशों के तहत सरकार ने यह बात बिल्कुल साफ कर दी है।

उच्चतर शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत शर्मा की ओर से जारी निर्देशों में साफ कहा गया है कि प्रदेश के सभी सरकारी और गैर सरकारी स्कूल खुले रहेंगे, लेकिन प्राइवेट स्कूल बच्चों को जबरदस्ती स्कूल नहीं बुला सकते। जो बच्चे स्कूल नहीं आ सकते वे अपने घर में ही ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं। यह फैसला प्राइमरी और अप्पर प्राइमरी दोनों ही कक्षाओं पर लागू होगा।

प्राइवेट स्कूलों को साफ निर्देश दिए गए हैं कि वे ऑफलाइन कक्षाओं के साथ ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रखें। बच्चों को स्कूल बुलाने या न बुलाने का फैसला स्कूल प्रबंधन पीटीए या स्कूल मैनेजमेंट कमेटी स्कूल प्रबंधन के साथ बैठकर कर सकते हैं। पैरेंट्स की मर्जी होगी कि वो अपने बच्चों को स्कूल भेजें या नहीं, जबकि सरकारी स्कूल बंद नहीं होंगे।

सरकारी स्कूलों के लिए जो आदेश 9 नवंबर को जारी किए गए थे, उनमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। उच्चतर शिक्षा निदेशक डॉ. अमरजीत शर्मा की ओर से इस संबंध में निर्देश शिमला शहर के अलावा प्रदेश के शीतकालीन अवकाश वाले स्कूलों में लागू होंगे। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) और आईसीएसई बोर्ड स्कूलों में भी ये आदेश लागू होंगे।

पैरेंट्स छोटे बच्चों के संबंध में तर्क दे रहे थे कि शीतकालीन स्कूल में परीक्षाओं के लिए महज 10 से 15 दिनों का समय बचा हुआ है। अगर स्कूल खुलते हैं तो पैरेंट्स को वर्दी खरीदने के साथ-साथ गाड़ियों की व्यवस्था करनी पड़ेगी। करीब दो सालों से बच्चे ऑनलाइन पढ़ रहे हैं और ऑनलाइन ही परीक्षा दे रहे हैं तो शीतकालीन अवकाश से पहले बचे हुए समय में भी ऑनलाइन पढ़ाई हो सकती है।

वहीं, दूसरी ओर छात्र अभिभावक मंच इन आदेशों से संतुष्ट नहीं है। मंच के संयोजक विजेंद्र मेहरा का कहना है कि सरकार को ये स्पष्ट लिखना चाहिए था कि पहली से आठवीं क्लास तक केवल ऑनलाइन ही पढ़ाई होगी। इन आदेशों में परीक्षाओं का जिक्र नहीं है कि वो किस मोड से होंगी। मेहरा ने मांग की है कि इस पर फिर से स्पष्ट आदेश जारी किए जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here