एसपी मंडी की अंगूठियां 17 दिन बाद सुंदरनगर के फोरैस्ट रैस्ट हाऊस से बरामद

0
17

मंडी: एसपी मंडी शालिनी अग्निहोत्री की अंगूठियां सुंदरनगर के फोरैस्ट रैस्ट हाऊस में बरामद हुई हैं जिन्हें एसआईयू ने कब्जे में ले लिया है और आगामी छानबीन शुरू कर दी है। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी ने अंगूठियां सुंदरनगर स्थित फोरैस्ट रैस्ट हाऊस से बरामद होने की पुष्टि की है। अंगूठियां चोरी होने की रपट दर्ज होने के 17 दिन बाद ये अंगूठियां मिलने के मामले ने अब कई सवाल भी खड़े कर दिए हैं। अंगूठियां बरामद होने पर रैस्ट हाऊस में तैनात कर्मचारियों के बयान भी कलमबद्ध किए गए हैं।

जानकारी के अनुसार बुधवार को सफाई कर्मचारियों को यहां कमरे की सफाई करते समय एक अंगूठी तकिए के पास तो दूसरी टेबल के नीचे से बरामद हुई जबकि 17 अगस्त के बाद कई बार चादरें और तकिए के कवर चेंज किए गए हैं।

बताया जा रहा है कि जिस कमरे से बरामदगी हुई है उस कमरे में एसपी मंडी 17 अगस्त को ठहरी थीं जबकि अंगूठियां 15 अगस्त को गुम हुई थीं और उन्होंने इसकी रपट 17 अगस्त को लिखवाई थी, जिसके आधार पर उनके आवास पर कार्य करने वाले पुलिस कर्मचारियों से पूछताछ भी हुई थी और इसी बीच महिला कर्मचारी ने कथित रूप से फिनायल का सेवन कर लिया था व तबीयत बिगड़ने पर उन्हें सुंदरनगर के अस्पताल में भर्ती किया गया था।

इस दौरान महिला का एक संगीन आरोपों वाला वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था और परिजनों व कई संगठनों ने एसपी मंडी और महिला थाना की एसएचओ के खिलाफ जांच की मांग की थी। मामला हाई प्रोफाइल होने के चलते पुलिस मुख्यालय ने डीआईजी मंडी को जांच के निर्देश दिए थे। इसी बीच वीरवार को इस बात का खुलासा हुआ कि जो अंगूठियां एसपी के मंडी आवास से चोरी हुई थीं वह सुंदरनगर स्थित वन विभाग के रैस्ट हाऊस से बरामद हो गई हैं।

अभी तक की जांच में यह बात भी सामने आई है कि मामले को लेकर पूछताछ के बाद जिस महिला ने फिनायल निगली थी उसका पति भी वन विभाग में कार्यरत है और उसकी एक अन्य महिला रिश्तेदार भी इसी रैस्ट हाऊस में काम करती है। हालांकि उन्होंने पहले ही स्पष्ट कह दिया है कि इस मामले में उनके परिवार को पुलिस की तरफ से टारगेट किया जा रहा है।

उन्होंने एसपी मंडी और महिला थाना प्रभारी पर जातिसूचक शब्द कहने, प्रताड़ित करने और बालों से घसीटने के आरोप लगाते हुए अपनी शिकायत दर्ज करवा दी है जिसकी डीएसपी सरकाघाट जांच कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस पूछताछ के बाद जिस महिला कर्मचारी ने फिनायल निगली थी उसका घर भी वहीं आसपास है। कुल मिलाकर अब इस मामले में नया मोड़ आते ही जांच की सूई वन विभाग के कर्मचारियों की तरफ भी घूम गई है।

बताया जा रहा है कि पुलिस रपट के बाद 20 अगस्त को पुलिस ने वन विभाग के अधिकारियों के सामने पूरे कमरे की चैकिंग करवाई थी तब वहां कुछ नहीं मिला था। बताया गया कि रिकार्ड के मुताबिक इसी कमरे में 18 अगस्त के बाद एक बार जज, तो एक बार एक अन्य उच्चाधिकारी व 31 अगस्त को इसी सैट में वन विभाग के एक और उच्चाधिकारी भी ठहरे थे लेकिन ऐसे में सवाल उठता है कि अगर 17 अगस्त को एसपी मंडी वहां ठहरी थीं तो इसके बाद इतने दिनों में कमरे की साफ-सफाई के दौरान उपरोक्त अंगूठियां बरामद क्यों नहीं हुईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here