टिकट का ऐलान होते ही अर्की ब्लॉक कांग्रेस का सामूहिक इस्तीफा, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष को भंग करनी पड़ी कमेटी

0
12

सोलन: कांग्रेस में गुटबाजी का रंग पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के सीट अर्की से ही शुरू हो गई है। अर्की कांग्रेस कमेटी के सभी अधिकारियों के इस्तीफे के बाद प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कमेटी भंग कर दिया है।

प्रदेश कांग्रेस अनुशासन समिति की अध्यक्ष विप्लव ठाकुर की सिफारिश के बाद कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने अर्की ब्लॉक कांग्रेस कमेटी को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने सतीश कश्यप को तत्काल प्रभाव से अर्की ब्लॉक कांग्रेस कमेटी का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है। टिकट के ऐलान के बाद जहां कांग्रेस पार्टी को चुनाव प्रचार की शुरुआत करनी थी, वहीं कांग्रेस पार्टी अभी अंदरूनी गुटबाजी सुलझाने में लगी हुई है।

कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि फिलहाल अभी किसी को पार्टी से निकाला नहीं गया है। पार्टी के नेता सभी से बात करेंगे और उन्हें मनाने की कोशिश की जाएगी। उन्होंने कहा कि पार्टी टिकट एक व्यक्ति को ही दे सकती और जो दूसरे लोग टिकट के दावेदार होते है उनमें नाराजगी जाहिर सी बात है।

बता दें कि पूरे विवाद की शुरुआत संजय अवस्थी को टिकट देने के साथ शुरू हुई है। संजय सुक्खू-विद्या स्टोक्स गुट के नेता हैं और 2017 के विधानसभा चुनाव में इन्होने राजा वीरभद्र सिंह को विरोध में काम किया था।

कार्यकर्ता राजेंद्र ठाकुर अर्की हलके के दिग्गज नेता हैं और वीरभद्र सिंह की तबियत बिगड़ने के बाद उनके विधानसभा क्षेत्र का काम काज देखते थे। माना जा रहा है कि पार्टी ने राजा गुट का वर्चस्व खत्म करने के लिए संजय को टिकट दे दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here