HomeNews | समाचारहिमाचलउपचुनाव: चुनावी रैलियों में होगी रैंडम सैंपलिंग

उपचुनाव: चुनावी रैलियों में होगी रैंडम सैंपलिंग

शिमला: हिमाचल प्रदेश में उपचुनावों के लिए नेताओं की रैलियों में शामिल होने वाले लोगों की रैंडम सैंपलिंग होगी। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले न बढ़ें, इसके लिए यह निर्णय लिया गया है। रैली स्थल के बाहर स्वास्थ्य विभाग का काउंटर स्थापित किया जाएगा। इसमें डॉक्टर, नर्स और फार्मासिस्ट तैनात होंगे और रैली में आने वाले ग्रुपों में से किसी एक व्यक्ति का कोरोना की जांच के लिए सैंपल लेंगे।

मंडी संसदीय क्षेत्र के साथ जुब्बल-कोटखाई, फतेहपुर और अर्की विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव की घोषणा हो चुकी है। अब प्रत्याशियों के नाम फाइनल होने के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की रैलियां होंगी। इनमें लोगों की भीड़ उमड़ना स्वाभाविक है। पार्टी प्रत्याशी कार्यकर्ताओं के साथ घर-घर जाकर वोट भी मांगेंगे। ऐसे में कोरोना के मामले बढ़ने की आशंका को लेकर स्वास्थ्य विभाग तैयारियों में जुट गया है। 

प्रदेश में अभी कोरोना संक्रमण के मामले कम नहीं हुए हैं। जिला मंडी, शिमला, कांगड़ा, बिलासपुर और चंबा में मामलों के लगातार बढ़ोतरी हो रही है। प्रतिदिन डेढ़ से दो सौ नए मामले पंजीकृत हो रहे हैं। रोजाना 3 से 4 लोगों की इस बीमारी से मौत हो रही है। प्रदेश में एक्टिव मामलों की संख्या 15 सौ से ज्यादा है।

उपचुनावों की घोषणा के बाद प्रदेश के आठ जिलों में आचार संहिता लागू हो गई है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग इन जिलों में सैंपलिंग बढ़ाने पर फोकस कर रहा है। सरकार ने सीएमओ को निर्देश दिए हैं कि जिन-जिन क्षेत्रों से यह मामले आए हैं, वहां कांटेक्ट ट्रेसिंग करवाएं। जिले में सैंपलिंग बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं।

स्वास्थ्य सचिव अमिताभ अवस्थी ने बताया कि रैली स्थल में उपस्थित होने वाले लोगों की रैंडम सैंपलिंग होगी। इसको लेकर सीएमओ को निर्देश दिए गए हैं। कोरोना के मामले न बढ़ें, इसके चलते यह फैसला लिया गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments