HomeNews | समाचारहिमाचलHRTC कुल्लू डिपो की सात बसें कंडम घोषित, अब रूटों पर नहीं...

HRTC कुल्लू डिपो की सात बसें कंडम घोषित, अब रूटों पर नहीं चलेंगी ये बसें

कुल्लू: एचआरटीसी कुल्लू डिपो की कंडम घोषित हो चुकी बसें अब रूटों पर नहीं चल सकेंगी। निगम की ओर से इन बसों को रूटों पर न चलाने के आदेश जारी हो चुके हैं। बता दें कि एचआरटीसी कुल्लू डिपो की सात बसें कंडम घोषित हो चुकी हैं। फिलहाल ये बसें जिला के विभिन्न लोकल रूट पर चल रही थी।

बीच रास्ते पर खड़ी हो जाती थी बसें

कंडम हो चुकी सात बसों में से चार बसें 52 सीटर, जबकि तीन बसें 37 सीटर हैं। ये सारी बसें साल 2004-2005 की हैं। फिलहाल इन बसों को लोकल रूटों पर चलाया जा रहा था। ऐसे में कई बार ये बसें बीच रास्ते में खड़ी हो जाती थीं। बसों के बीच रास्ते खराब होने के कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता था।

कई बार खराब हो चुकी थी बसें

बता दें कि बीच रास्ते बसों के खराब होने की घटनाएं एक बार नहीं, कई बार हो चुकी हैं। आधे रास्ते ये बसें हांफ जाती थी। जिसके बाद यात्रियों को बसों को धक्का लगाकर आगे पहुंचाना पड़ता था। अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए निजी वाहनों का सहारा लेना पड़ता था। लोगों ने कई बार इस तरह की घटनाओं की शिकायत डिपो में भी की थी।

जल्द मिलेंगी 12 नई HRTC बसें

एचआरटीसी के कुल्लू डिपो को जल्द 12 नई बसें मिलेंगी। बताया जा रहा है कि सभी बसें इसी महीने कुल्लू पहुंच जाएंगी। नई बसों में छह बसें एसी, तो छह सामान्य बसें होंगी। सामान्य बसों में भी चार बसें 42 सीटर और दो 52 सीटर होंगी।

खटारा बसों से मिलने वाला है छुटकारा

नई बसें आने से लोगों को खटारा बसों से छुटकारा मिलने वाला है। जहां पर सड़कें तंग हैं वहाँ एचआरटीसी द्वारा अब 42 सीटर बसें चलाई जाएगी। इससे ग्रामीण इलाकों में पेश आ रही दिक्कतों से भी निजात मिलेगी। नई बसों के मिलने से लंबे रूट पर दौड़ रही खटारा बसों में सफर करने से लोगों को छुटकारा मिल जाएगा।

क्या बोले आरएम कुल्लू

इस बारे जानकारी देते हुए आरएम, एचआरटीसी कुल्लू डिपो डीके नारंग ने बताया कि कुल्लू डिपो की सात बसों को कंडम घोषित किया गया है। इन बसों का संचालन बंद किया जाएगा। सरकार की ओर से नई बसें जल्द मिलने वाली हैं जिससे दिक्कत दूर हो जाएगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments